हिंदी फिल्मों में ए आर रहमान के वो 10 गाने जिसने संगीत सुनने और बनाने को बदल दिया

इस लेख को अंग्रेजी में पढ़ें: यहां

नरेंद्र कुसनूर

ए आर रहमान के 52वें जन्मदिन पर उनको ढेर सारी शुभकामनाएं। पिछले कुछ सालों से वो कम ही नजर आ रहे हैं कम से कम हिंदी फिल्म संगीत क्षेत्र में लेकिन 1990 और 2000 के शुरुआती दशक में हिंदी फिल्म संगीत में उनका योगदान अप्रतिम है । ए आर रहमान इस दौरान संगीत को सुनने और बनाने में बड़ा बदलाव लेकर आए।

हमने यहां खांटी रहमान शैली के 10 गाने चुने हैं जो बहुत बड़े हिट भी रहे हैं। तो चलिए चलते हैं यादों के उस गुनगुनाते गलियारे में जिसे ए आर रहमान ने बुना है।

1- छोटी सी आशा- फिल्म रोजा

रहमान ने मणिरत्नम की तमिल रोजा से बड़ा नाम बनाया। यही फिल्म हिंदी में डब हुई थी। ‘छोटी सी आशा’ एवरग्रीन गाना है, इसे मिनमिनी और रहमान ने गाया है।

2- कहना ही क्या – फिल्म बाम्बे

ये गाना रहमान के सबसे महान हिट्स में से एक है। के एस चित्रा और रहमान की आवाज वाले इस गाने में अद्धुत कोरस और संगीत है। गाना मनीषा कोइराला पर फिल्माया गया है और इसे लिखा महबूब ने है।

3- रंगीला रे – फिल्म रंगीला

1995 में आई राम गोपाल वर्मा की इस फिल्म में रहमान और महबूब फिर एक साथ आए और उन्होंने फिर से सुपर डुपर हिट गाना दिया। गाने को आशा भोसलें और आदित्य नारायन ने गाया है और इस पर उर्मिला मार्तोन्डकर की शानदार नृत्य भंगिमाएं लोगों को आज तक याद हैं।

4- छैंया- छैंया – फिल्म दिल से

ट्रेन के ऊपर शाहरुख खान और मालइका अरोरा पर फिल्माए इस गाने ने गायक सुखविंदर सिंह को एक बड़ा मंच दिया, गाने के बीच बीच में सपना अवस्थी की भी आवाज है। गुलजार का ये गीत सूफी संत और कवि बाबा बुल्ले शाह के ‘थैंया-थैंया’ से प्रेरित है।

5- ताल से ताल मिला – फिल्म ताल

ये गाना बेहद दिलकश है और अलका याज्ञनिक और उदित नारायण की आवाज ने इसे और शानदार बना दिया। गाना ऐश्वर्या राय और अक्षय खन्ना पर फिल्माया गया था। गीतकार आनंद बख्शी के शब्द और उसके साथ दिल को छू लेने वाली धुन ने इस गाने का जादू आज तक बरकार रखा है।

6- मितवा- फिल्म लगान

क्रिकेट पर आधारित आमिर खान की इस फिल्म में रहमान ने कुछ बेहद अद्भुत गाने दिए और जावेद अख्तर ने सदाबहार गाने लिखे। अगर ‘घनन-घनन’ गाने ने ये तय किया कि फिल्म का संगीत सदाबहार है तो उदित नारायण. सुखविंदर, अलका याग्निक और श्रीनिवास की आवाज में ‘मितवा’ ने ये तय कर दिया कि ये गाना हमेशा गुनगुनाया जाएगा । गाने में तबला आदि का अद्भुत प्रयोग भी है।

7- यूं ही चला चल – फिल्म स्वदेस

उदित नारायण, कैलाश खेर और हरिहरन की अद्भुत तिकड़ी ने 2004 का ये सुपरहिट गाना गाया। गाने को लिखा जावेद अख्तर ने और सड़क पर सफर के जरिए गाने के बोल और संगीत दोनों को सटीक ढंग से फिल्माया गया है।

8- रंग दे बसंती- फिल्म रंग दे बसंती

तेज पॉप भागड़ा धुन वाले इस गाने को आमिर खान के ऊपर फिल्माया गया और इसने खूब तहलका भी मचाया था। दलेर मेहंदी की आवाज धुन के साथ सटीक लगती है और प्रसून जोशी के बोल भी बेहतरीन हैं। इस गाने का नृत्य निर्देशन भी शानदार था ।

9- पप्पू कान्ट डांस – फिल्म जाने तू… या जाने ना

रहमान ने इस गाने में एक क्लब के माहौल में मजेदार गाने को बनाने की कोशिश की है और वो इसमें पूरी तरह सफल भी रहे हैं। इमरान खान पर फिल्माया ये गीत 2008 में हर डांस फ्लोर की जान बन गया था। इस गाने को अनुपमा, बेनी दयाल और ब्लाज ने गाया है।

10- कुन फय कुन – फिल्म रॉकस्टार

रहमान ने अपने करियर में बेहद साफ सुथरी धुनों वाले सुफियाना गाने किए हैं। रणबीर कपूर और अन्य पर फिल्माया गया ये गाना दिल को बेहद सकून देता है। गाने को रहमान, जावेद अली और मोहित चौहान के साथ साथ निजामी भाईयों ने किया है। गाने को इरशाद कामिल ने लिखा है।

Post Comment(s)
Hide Comment(s)